Your cart is empty

स्वदेशी की ललकार - गांधीजी (सं. कुमार प्रशांत)

₹30.00

गांधी-विचार के महत्त्वपूर्ण पक्षों को समक्ष लाने वाले इन छः संकलनों — 1. ‘मैं कौन हूँ?’, 2. ‘स्वदेशी की ललकार’, 3. ‘अहिंसा की ताकत’, 4. ‘आजादी और औरत’, 5. ‘महायुद्ध की आग’ और 6. ‘धर्म तलवार है’ की सारी सामग्री सम्पूर्ण गांधी वांगमय के प्रकाशित एक सौ खण्डों से छाँटकर निकाली गयी है। कुमार प्रशान्त द्वारा संकलित-सम्पादित एक अमूल्य धरोहर।

Swadeshi Ki Lalkar - Mahatma Gandhi (Ed. Kumar Prashant)

Pages: 60
Size: Demy

Add to Cart:


This product was added to our catalog on Sunday 19 May, 2013.